Uttarakhand New CM Tirath Singh Rawat भी रह चुके हैं 2 साल जेल

हाइलाइट्स
  • उत्तराखण्ड मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने दिया इस्तीफा।  
  • उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पद के लिए तीरथ सिंह रावत के शपथ ग्रहण की तयारी सुरु। 
  • बीजेपी में राष्ट्रीय सचिव के रूप में कर रहे वर्तमान में काम, पौड़ी लोकसभा सीट से सांसद हैं तीरथ सिंह रावत जो बनने जा रहे उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री
Tirath Singh Rawat

राजनीति

उत्तराखंड की राजनीती में फिर से अचानक हुई उथल पुथल, वर्तमान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत अब भूत पूर्व मुख्यमंत्री की लिस्ट में शामिल हो गए हैं।  इसी के चलते रावत जी ने एक और रावत जी (तीरथ सिंह रावत) के नाम का प्रस्ताव खुद ही रखा। जिसे उत्तराखंड का एक बड़ा तपका बीजेपी का सिहासी दांव बता रहा है। त्रिवेंद्र सिंह रावत उत्तराखंड में आय दिन सोशल मीडिया में छाये रहते हैं, अपने इस्तीफे के चलते एक बार फिर से सोशल मीडिया में चर्चा का विषय बने।

अपने ही गुरु जनरल बीसी खंडूड़ी के पुत्र मनीष खंडूड़ी को पराजित कर पौड़ी लोकसभा से सांसद बने तीरथ सिंह रावत जो की RSS की पृष्ठभूमि से लम्बे समय से जुड़े हैं, साथ ही साथ भाजपा उत्तराखंड के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

पौड़ी जिले के असवालस्यूं में  9 अप्रैल 1964 को जन्मे TS Rawat जी ने अपनी ग्रेजुएशन हेमवंती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय से की, सुरु से ही छात्र राजनीती के चलते वे छात्र संघ के अध्यक्ष भी रहे। और राम मंदिर जैसे आंदोलन से सुरु से ही जुड़े रहे, जिसके चलते 2 साल जेल में भी बिताये। 1983 से RRS के साथ रहे। पौड़ी से सांसद बनने से पहले 2012 से 2017 तक उत्तराखंड की चौबट्टाखाल विधानसभा के बिधायक भी रह चुके हैं।

उत्तराखण्ड के नए CM चुने जाने के बाद, तीरथ सिंह रावत ने मीडिया से बात करते हुए देश के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह का धन्यवाद किया और साथै ही में ये भी बताया की उन्हें कभी उम्मीद नहीं थी की वो मुख्यमंत्री के पद के लिए चुने जायेंगे। और सारे उन कामो को पूरा करने का आश्वासन भी दिया जो त्रिवेंद्र सरकार अधूरा छोड़ गई।

तीरथ सिंह रावत वर्ष 1997 से विधान परिषद के सदस्य के रूप में कार्य करते रहे। उसके बाद वर्ष 2000 में उत्तराखण्ड में बीजेपी सरकार बनने के बाद उत्तराखण्ड के शिक्षा मंत्री थे। वर्ष 2007 में TS Rawat जी उत्तराखण्ड बीजेपी के महामंत्री के पद पर कार्यरत रहे। उसके बाद काफी समय तक श्रीमान जी बीजेपी के चुनाव अधिकारी बने रहे, और 2013 से 2015 तक बीजेपी के उत्तराखण्ड चीफ बने रहे। इसके बाद 2017 से तीरथ सिंह जी बीजेपी के लिए ही राष्ट्रीय सचिव के रूप में कार्य करने लगे। 2019 हिमाचल चुनाव में रावत जी प्रदेश चुनाव प्रभारी भी बने। कुल मिलाकर बीजेपी ने तीरथ सिंह रावत जी पर काफी भरोसा सुरु से ही किया है, जिसके चलते अब इन्हे उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पद के लिए चुना गया है।

आपके शेयर से फर्क पड़ेगा:

हेलो, मेरा नाम सूर्य जोशी है, मै उत्तराखण्ड के टिहरी जिले का रहने वाला हूँ। मैंने अपनी ग्रेजुएशन हेमन्ती नंदन बहुगुणा गढ़वाल यूनिवर्सिटी से पूरी की है, और मै मारुती सुजुकी में पिछले 7 साल से Sales में बतौर Relationship Manager काम कर रहा हूँ। पिछले 2 साल से पार्ट टाइम Blogging कर रहा हूँ।

Leave a Comment