Auli Uttarakhand

Auli Uttarakhand का बहु चर्चित टूरिस्ट स्पॉट है, उत्तराखण्ड की Winter Capital देहरादून से लगभग 300 किमी की दूरी और समुद्र तल से लगभग 10000 ft की ऊंचाई में स्थित है। Auli Uttarakhand के चमोली जिले में पड़ता है जहाँ इसे औली बग्याल के नाम से जाना जाता है। यह एक स्की डेस्टिनेशन है जहां शर्दियों के मौषम में स्कीइंग के प्रोफेशनल और ट्रेनी ट्रेनर्स की भीड़ लगी रहती है। क्योंकि यहाँ का स्कीईंग ग्राउंड स्की के सभी ग्लोबल मानक पूरा करता है। स्की के साथ साथ यहाँ का Ropeway भी चर्चित है, इसपे चलती केबल कार में बैठ कर हिमालय और हिमालय के अनेक पर्वत जैसे नंदा देवी, कामेत पर्वत, और द्रोणागिरी पर्वत के दर्शन एक साथ होती हैं। जिस अनुभव का वर्णन करना मुश्किल है।

What Is The Best Time to Visit Auli?

Best Time to Visit Auli विंटर सीजन में यहां पर हेवी स्नोफॉल होती है, और गर्मियों में यहाँ बहुत सारे एडवेंचर एक्टिविटी के ऑप्शन उपलब्ध हैं। जो इसे और टूरिस्ट प्लेसेस से ज्यादा इंटरेस्टिंग बनाता है। इसीलिए Auli Uttarakhand का ऑल सीजन फेमस एडवेंचर लवर्स डेस्टिनेशन है। और यहाँ के टूरिज्म का लाइफ लाइन है यहाँ का रोप वे (तारों पर चलने वाली कार). इस रोप वे के पॉइंट नम्बर 8 पे स्कीइंग और ओर भी एडवेंचर्स एक्टिविटी होती है। ज्यादातर लोग यहीं पर उतर जाते हैं। पर अगर आपको हेवी स्नो देखना है तो लास्ट पॉइंट जोकी पॉइंट नंबर 10 है, वहां तक आप जा सकते हैं। अगर हम पॉइंट नंबर 10 की तुलना करें पॉइंट नंबर 8 से तो पॉइंट नंबर 8 ज्यादा कमर्सिअलिज़्ड है। पॉइंट नंबर 8 पर आपको रुकने और खाने के ज्यादा ऑप्शंस मिल जाते हैं।

केदारनाथ के बारे यहाँ पढ़ें

Auli Uttarakhand

Places to Visit in Auli

यह तो बात हुई एडवेंचर स्पोर्ट की, लेकिन Auli में करने को और बहुत कुछ है। औली में सबसे महत्वपूर्ण ट्रैक है. Gorsan Bugyal Trek जो की 3 किलोमीटर का ट्रेक है ओर Chattarpur Trek 4 किलोमीटर का ट्रेक है। ये ट्रेकिंग करने लिए 3 – 4 घंटे का समय लगता है। ट्रेकिंग पर जाने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें,
1 Best Treking Time in Auli: Auli में ट्रेकिंग के लिए ध्यान देने वाली बातों में से सबसे जरुरी बात है की कोसिस होनी चाइये trekking सुबह 7:00 से 8:00 बजे सुरु हो जाये। ताकि शाम तक वापस आने का टाइम सही हो।
2 निकलने से पहल हल्का नास्ता करके निकलें और स्नैक्स के लिए जैसे चिप्स और बिस्कुट के साथ पानी का इंतजाम भी करते चलें।

Badrinath Temple

Auli से 40 किलोमीटर के दूरी पर है Badrinath Temple जोकि हिन्दू धर्म के सबसे पवित्र चार धाम में से एक धाम है। अगर आप Auli तक आ ही गए हैं और एक दिन एक्स्ट्रा भी है ही तो आपको झरूर बद्रीनाथ धाम भी जाना चाहिए।

Artificial Lake

Artificial Lake प्राकृतिक झील तो बहुत सी देखि होती है, अगर वही चीज़ जान बूझ के बनाई गई हो यानी की मैन मेड तो उसका नज़ारा भी देखने लायक होता है, ऐसी ही एक झील जो मैन मैड है बहुत चर्चित है Auli में, सर्दियों के मौषम में यही झील जब बर्फ से भर जाता है तो इसका दृश्य और भी मनोरम हो जाता है।

How to Reach Auli Uttarakhand?

Auli के लिए सबसे पहले जोशीमठ आना होगा, जोशीमठ उत्तराखंड की राजधानी देहरदून से करीब 300 किलोमीटर की दूरी पर, हरिद्वार से लगभग 275 किलोमीटर, ऋषिकेश से 255 किलोमीटर, और हल्द्वानी से भी लगभग 300 किलोमीटर की दूरी पर एक Hill station है, यहाँ पहुंचने के लिए आपको Bus या फिर शेयरिंग Jeep उत्तराखण्ड के इन मुख्य शहरों से उपलब्ध हो जाएँगी। जोशीमठ से Auli रोप वे (केबल कार) के ज़रिये जा सकते हैं इसमें आपको 25 मिनट से 30 मिनट लगेंगे, जिसका किराया 1000/- है जाना और आना दोनों के लिए। टिकट की वैलिडिटी 3 दिन की होती है जाने के बाद वापिस आने के लिए। टाइम की बात अगर करते हैं तो सुबह के 9:15 बजे से शाम के 4:20 तक जोशीमठ से हर आधे घंटे में केबल कार उपलब्ध हो जाती है। अगर केबल कार से जाने में कम्फर्टेबले नहीं हो तो आप मिड पॉइंट जोकि GMVN Hotel (Hotels in Auli Uttarakhand) है वहां तक आपको शेयरिंग jeep मिल जाएगी और बचा हुआ रास्ता ट्रेक करके जाना होगा। मगर ये रास्ता बर्फ़बारी के टाइम बंद रहता है।

Public Transport

Public Transport से जोशीमठ: Public Transport से Joshimath पहुँचने के लिए आपको सबसे पहले उत्तराखंड के इन मुख्य शहर में से किसी एक शहर तक पहुंचना होगा।
उत्तराखंड की राजधानी देहरदून, (300 किमी)
हरिद्वार, (275 किमी)
ऋषिकेश, (255 किमी)
हल्द्वानी (300 किमी)
यहाँ से आपको बस और शेयरिंग टैक्सी आराम से मिल जाएगी। लगभग सभी जगहों से रेंटल कार भी मिल जाएँगी जिसका खर्चा 10 से 15 हजार आएगा।

Delhi to Auli Uttarakhand Distance 575 Km approx

How do I get to Auli Uttarakhand by train?

By Train

अगर आप भारत के अन्य राज्यों से Auli joshimath आना चाहते हैं और ट्रैन से आने का प्लान कर रहे हैं तो आप उत्तराखण्ड के ऊपर दिए मुख्य शहर में से किसी एक शहर के रेलवे स्टेशन को चुन सकते हैं। क्योकिं यहाँ के लिए सबसे नज़दीकी रेलवे स्टेशन भी अभी तक यहीं हैं। हालांकि कुछ साल या महीनो में कर्णप्रयाग का रेलवे स्टेशन भी बन कर तैयार हो जायेगा जो सबसे नज़दीक का स्टेशन हो जायेगा। अभी के लिए सबसे सही चुनाव हरिद्वार रेलवे स्टेशन होगा क्योंकि हरिद्वार रैलवेस्टेशन पर लगभग सभी लम्बी दूरी वाली ट्रैन आती हैं।

By Plane

रेलवे स्टेशन के जैसे Airport के ज्यादा ऑप्शन यहाँ जाने के लिए नहीं है मसलन Joshimath पहुंचने के लिए सबसे नज़दीकी Airport Dehradun में Jollygrant Airport है। यहाँ भी इसके बाद आपको पब्लिक ट्रांसपोर्ट जैसे बस या टैक्सी से ही जोशीमठ तक पहुंच पाएंगे या फिर रेंटल कार लेनी होगी।

Auli Uttrakhand ka weather normaly thanda hi reheta hai. Sardiyon me yatri snow fall dekhne ke liye hi jadatar yahan aate hain.

आपके शेयर से फर्क पड़ेगा:

हेलो, मेरा नाम सूर्य जोशी है, मै उत्तराखण्ड के टिहरी जिले का रहने वाला हूँ। मैंने अपनी ग्रेजुएशन हेमन्ती नंदन बहुगुणा गढ़वाल यूनिवर्सिटी से पूरी की है, और मै मारुती सुजुकी में पिछले 7 साल से Sales में बतौर Relationship Manager काम कर रहा हूँ। पिछले 2 साल से पार्ट टाइम Blogging कर रहा हूँ।

Leave a Comment